Close

Zodiac

daily horoscope for ariesAries daily horoscope for taurusTaurus daily horoscope for geminiGemini daily horoscope for cancerCancer daily horoscope for leoLeo daily horoscope for virgoVirgo daily horoscope for libraLibra daily horoscope for scorpioScorpio daily horoscope for sagittariusSagittarius daily horoscope for capricornCapricorn daily horoscope for aquariusAquaris daily horoscope for piscesPisces

Vrat (Pooja Vidhi)


Ekadashi Vrat Vidhi

पुराणों में एकादशी के व्रत के विषय में कहा गया है कि व्यक्ति को दशमी के दिन शाम में सूर्यास्त के बाद भोजन नहीं करना चाहिए और रात्रि में भगवान का ध्यान करते हुए सोना चाहिए। एकादशी के दिन सुबह उठकर मन से सभी विकारों को निकाल दें और स्नान करके भगवान विष्णु की पूजा करें। पूजा में तुलसी पत्ता, श्रीखंड चंदन, गंगाजल एवं मौसमी फलों का प्रसाद अर्पित करना चाहिए। व्रत रखने वाले को पूरे दिन परनिंदा, झूठ, छल-कपट से बचना चाहिए।
जो लोग किसी कारण व्रत नहीं रखते हैं उन्हें एकादशी के दिन चावल का प्रयोग भोजन में नहीं करना चाहिए। इन्हें भी झूठ और परनिंदा से बचना चाहिए। जो व्यक्ति एकादशी के दिन विष्णुसहस्रनाम का पाठ करता है उस पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा होती है।

2016 Ekadashi Vrat Dates

  1. 05 January (Tuesday) Saphala Ekadashi
  2. 06 January (Wednesday) Vaishnava Saphala Ekadashi
  3. 20 January (Wednesday) Pausha Putrada Ekadashi
  4. 04 February (Thursday) Shattila Ekadashi
  5. 18 February (Thursday) Jaya Ekadashi
  6. 05 March (Saturday) Vijaya Ekadashi
  7. 19 March (Saturday) Amalaki Ekadashi
  8. 03 April (Sunday) Papmochani Ekadashi
  9. 04 April (Monday) Gauna Papmochani Ekadashi
  10. Vaishnava Papamochani Ekadashi
  11. 17 April (Sunday) Kamada Ekadashi
  12. 03 May (Tuesday) Varuthini Ekadashi
  13. 17 May (Tuesday) Mohini Ekadashi
  14. 01 June (Wednesday) Apara Ekadashi
  15. 16 June (Thursday) Nirjala Ekadashi
  16. 30 June (Thursday) Yogini Ekadashi
  17. 01 July (Friday) Gauna Yogini Ekadashi, Vaishnava Yogini Ekadashi
  18. 15 July (Friday) Devshayani Ekadashi
  19. 30 July (Saturday) Kamika Ekadashi
  20. 14 August (Sunday) Shravana Putrada Ekadashi
  21. 28 August (Sunday) Aja Ekadashi
  22. 13 September (Tuesday) Parsva Ekadashi
  23. 26 September (Monday) Indira Ekadashi
  24. 12 October (Wednesday) Papankusha Ekadashi
  25. 26 October (Wednesday) Rama Ekadashi
  26. 10 November (Thursday) Devutthana Ekadashi
  27. 11 November (Friday) Gauna Devutthana Ekadashi,Vaishnava Utthana Ekadashi
  28. 25 November (Friday) Utpanna Ekadashi
  29. 10 December (Saturday) Mokshada Ekadashi
  30. 24 December (Saturday) Saphala Ekadashi

Sankashti Chaturthi Vidhi

नारद पुराण के अनुसार संकष्टी चतुर्थी के दिन व्रती को पूरे दिन का उपवास रखना चाहिए। शाम के समय संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत कथा को सुननी चाहिए। रात के समय चन्द्रोदय होने पर गणेश जी का पूजन कर ब्राह्मणों को भोजन कराने के बाद स्वयं भोजन करना चाहिए। इस दिन गणेश जी का व्रत-पूजन करने से धन-धान्य और आरोग्य की प्राप्ति होती है और समस्त परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

2016 Sankashti Chaturthi Dates

  1. 27 January (Wednesday) Sankashti Chaturthi Sakat Chauth
  2. 26 February (Friday) Sankashti Chaturthi
  3. 27 March (Sunday) Sankashti Chaturthi
  4. 25 April (Monday) Sankashti Chaturthi
  5. 25 May (Wednesday) Sankashti Chaturthi
  6. 23 June (Thursday) Sankashti Chaturthi
  7. 23 July (Saturday) Sankashti Chaturthi
  8. 21 August (Sunday) Sankashti Chaturthi Bahula Chaturthi
  9. 19 September (Monday) Sankashti Chaturthi
  10. 19 October (Wednesday) Sankashti Chaturthi Karwa Chauth
  11. 17 November (Thursday) Sankashti Chaturthi
  12. 17 December (Saturday) Sankashti Chaturthi

Pradosh Vrat Vidhi

सूत जी ने कहा है प्रत्येक पक्ष की त्रयोदशी के व्रत को प्रदोष व्रत कहते हैं। सूर्यास्त के पश्चात रात्रि के आने से पूर्व का समय प्रदोष काल कहलाता है। इस व्रत में महादेव भोले शंकर की पूजा की जाती है। इस व्रत में व्रती को निर्जल रहकर व्रत रखना होता है। प्रात: काल स्नान करके भगवान शिव की बेल पत्र, गंगाजल, अक्षत, धूप, दीप सहित पूजा करें। संध्या काल में पुन: स्नान करके इसी प्रकार से शिव जी की पूजा करना चाहिए। इस प्रकार प्रदोष व्रत करने से व्रती को पुण्य मिलता है।

2016 Pradosh Vrat Dates

  1. 07 January (Thursday) Pradosh Vrat (K) 17:35 to 20:22
  2. 21 January (Thursday) Pradosh Vrat (S) 17:47 to 20:32
  3. 06 February (Saturday) Shani Pradosh Vrat (K) 18:02 to 20:42
  4. 20 February (Saturday) Shani Pradosh Vrat (S) 18:14 to 20:49
  5. 06 March (Sunday) Pradosh Vrat (K) 18:25 to 20:54
  6. 20 March (Sunday) Pradosh Vrat (S) 18:35 to 20:59
  7. 05 April (Tuesday) Bhauma Pradosh Vrat (K) 18:45 to 21:03
  8. 19 April (Tuesday) Bhauma Pradosh Vrat (S) 18:54 to 21:07
  9. 04 May (Wednesday) Pradosh Vrat (K) 19:05 to 21:12
  10. 19 May (Thursday) Pradosh Vrat (S) 19:15 to 21:18
  11. 02 June (Thursday) Pradosh Vrat (K) 19:23 to 21:24
  12. 17 June (Friday) Pradosh Vrat (S) 19:29 to 21:29
  13. 02 July (Saturday) Shani Pradosh Vrat (K) 19:31 to 21:31
  14. 17 July (Sunday) Pradosh Vrat (S) 19:28 to 21:30
  15. 31 July (Sunday) Pradosh Vrat (K) 19:19 to 21:25
  16. 15 August (Monday) Soma Pradosh Vrat (S) 19:06 to 21:16
  17. 29 August (Monday) Soma Pradosh Vrat (K) 18:50 to 21:05
  18. 14 September (Wednesday) Pradosh Vrat (S) 18:30 to 20:51
  19. 28 September (Wednesday) Pradosh Vrat (K) 18:12 to 20:38
  20. 13 October (Thursday) Pradosh Vrat (S) 19:15 to 20:25
  21. 27 October (Thursday) Pradosh Vrat (K) 17:39 to 20:16
  22. 12 November (Saturday) Shani Pradosh Vrat (S) 17:26 to 20:08
  23. 26 November (Saturday) Shani Pradosh Vrat (K) 17:20 to 20:06
  24. 11 December (Sunday) Pradosh Vrat (S) 17:21 to 20:09
  25. 26 December (Monday) Soma Pradosh Vrat (K) 17:27 to 20:16

Durgashtami Vrat Pooja Vidhi

आज के दिन ही अन्नकूट पूजा यानी कन्या पूजन का भी विधान है। कुछ लोग नवमी के दिन भी कन्या पूजन करते हैं लेकिन अष्टमी के दिन कन्या पूजन करना श्रेष्ठ रहता है. इस पूजन में 9 कन्याओं को भोजन कराया जाता है अगर 9 कन्याएं ना मिले तो दो से भी काम चल जाता है. भोजन कराने के बाद कन्याओं को दक्षिणा देनी चाहिए. इस प्रकार महामाया भगवती प्रसन्नता से हमारे मनोरथ पूर्ण करती हैं.

2016 Masik Durgashtami Dates

  1. 17 January (Sunday) Masik Durgashtami
  2. 15 February (Monday) Masik Durgashtami
  3. 16 March (Wednesday) Masik Durgashtami
  4. 14 April (Thursday) Masik Durgashtami
  5. 14 May (Saturday) Masik Durgashtami
  6. 12 June (Sunday) Masik Durgashtami
  7. 12 July (Tuesday) Masik Durgashtami
  8. 11 August (Thursday) Masik Durgashtami
  9. 09 September (Friday) Masik Durgashtami
  10. 09 October (Sunday) Durga Ashtami
  11. 08 November (Tuesday) Masik Durgashtami
  12. 07 December (Wednesday) Masik Durgashtami

Weekdays Vrat Vidhi

Vinayaka Chaturthi

नारद पुराण के अनुसार संकष्टी चतुर्थी के दिन व्रती को पूरे दिन का उपवास रखना चाहिए। शाम के समय संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत कथा को सुननी चाहिए। रात के समय चन्द्रोदय होने पर गणेश जी का पूजन कर ब्राह्मणों को भोजन कराने के बाद स्वयं भोजन करना चाहिए। इस दिन गणेश जी का व्रत-पूजन करने से धन-धान्य और आरोग्य की प्राप्ति होती है और समस्त परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

2016 Vinayaka Chaturthi Dates

  1. 13 January (Wednesday) Vinayaka Chaturthi 11:35 to 13:37
  2. 11 February (Thursday) Vinayaka Chaturthi 12:02 to 13:47
  3. 12 March (Saturday) Vinayaka Chaturthi 11:27 to 13:47
  4. 10 April (Sunday) Vinayaka Chaturthi 11:13 to 13:45
  5. 10 May (Tuesday) Vinayaka Chaturthi 11:03 to 12:30
  6. 08 June (Wednesday) Vinayaka Chaturthi 11:02 to 13:50
  7. 08 July (Friday) Vinayaka Chaturthi 11:09 to 12:44
  8. 06 August (Saturday) Vinayaka Chaturthi 11:12 to 13:53
  9. 05 September (Monday) Ganesh Chaturthi 11:10 to 13:41
  10. 05 October (Wednesday) Vinayaka Chaturthi 11:06 to 13:25
  11. 03 November (Thursday) Vinayaka Chaturthi 11:06 to 13:15
  12. 03 December (Saturday) Vinayaka Chaturthi 11:17 to 13:18

Shivaratri Vrat Vidhi

गरुड़ पुराण के अनुसार शिवरात्रि से एक दिन पूर्व त्रयोदशी तिथि में शिव जी की पूजा करनी चाहिए और व्रत का संकल्प लेना चाहिए। इसके उपरांत चतुर्दशी तिथि को निराहार रहना चाहिए। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को जल चढ़ाने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है।

शिवरात्रि के दिन भगवान शिव की मूर्ति या शिवलिंग को पंचामृत से स्नान कराकर "ऊं नमो नम: शिवाय" मंत्र से पूजा करनी चाहिए। इसके बाद रात्रि के चारों प्रहर में शिवजी की पूजा करनी चाहिए और अगले दिन प्रात: काल ब्राह्मणों को दान-दक्षिणा देकर व्रत का पारण करना चाहिए।

गरुड़ पुराण के अनुसार इस दिन भगवान शिव को बिल्व पत्र अर्पित करना चाहिए। भगवान शिव को बिल्व पत्र बेहद प्रिय हैं। शिवपुराण के अनुसार भगवान शिव को रुद्राक्ष, बिल्व पत्र, भांग, शिवलिंग और काशी अतिप्रिय हैं।

2016 Masik Shivaratri Vrat Dates

  1. 08 January (Friday) Masik Shivaratri
  2. 06 February (Saturday) Masik Shivaratri
  3. 07 March (Monday) Maha Shivaratri
  4. 05 April (Tuesday) Masik Shivaratri
  5. 05 May (Thursday) Masik Shivaratri
  6. 03 June (Friday) Masik Shivaratri
  7. 02 July (Saturday) Masik Shivaratri
  8. 01 August (Monday) Masik Shivaratri
  9. 30 August (Tuesday) Masik Shivaratri
  10. 29 September (Thursday) Masik Shivaratri
  11. 28 October (Friday) Masik Shivaratri
  12. 27 November (Sunday) Masik Shivaratri
  13. 27 December (Tuesday) Masik Shivaratri

Skanda Sashti, Kanda Sashti Vratam Vidhi

कौमारिकी षष्ठी व्रत में पंचमी से युक्त षष्ठी तिथि के दिन व्रत रखना श्रेष्ठ माना जाता है. इस व्रत में पंचमी के दिन से व्रत आरम्भ किया जाता है. षष्ठी के दिन भी व्रत रखकर कुमार कार्तिकेय एवं माता पार्वती की पूजा की जाती है(This fast is started on Panchami and is also observed on Shashthi). कुमार कार्तिकेय को दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके आर्घ्य दिया जाता है. स्कन्द कुमार को दही, घी, चावल, फल एवं मिष्टान अर्पित करने का भी विधान है. कार्तिकेय भगवान को वस्त्र एवं तांबे का चूड़ा भी भेंट किया जाता है. पूजा के बाद श्रद्धालु भक्त सनतकुमार की आरती भी गाते हैं. व्रत चाहें तो इस दिन फलाहार कर सकते हैं.

2016 Skanda Sashti vrat Dates

  1. 15 January (Friday) Skanda Sashti
  2. 13 February (Saturday) Skanda Sashti
  3. 13 March (Sunday) Skanda Sashti
  4. 12 April (Tuesday) Skanda Sashti
  5. 11 May (Wednesday) Skanda Sashti
  6. 10 June (Friday) Skanda Sashti
  7. 09 July (Saturday) Skanda Sashti
  8. 08 August (Monday) Skanda Sashti
  9. 07 September (Wednesday) Skanda Sashti
  10. 06 October (Thursday) Skanda Sashti
  11. 05 November (Saturday) Soora Samharam
  12. 05 December (Monday) Subrahmanya Sashti

Purnima Vrat Vidhi

भविष्यपुराण के अनुसार पूर्णिमा के दिन तीर्थ स्थान पर स्नान करना चाहिए। अगर ऐसा संभव ना हो तो शुद्ध जल में गंगा जल मिलाकर स्नान करना चाहिए। इस दिन पितरोंक का तर्पण करना शुभ माना जाता है।

पूर्णिमा तिथि प्रात: व्रत का संकल्प लेना चाहिए। इसके बाद पूरे विधि-विधान से चन्द्रमा की पूजा करनी चाहिए। चंद्रमा की पूजा करते समय व्यक्ति को इस विशेष मंत्र का उच्चारण करना चाहिए:

वसंतबान्धव विभो शीतांशो स्वस्ति न: कुरु। गगनार्णवमाणिक्य चन्द्र दाक्षायणीपते।

इसके बाद रात्रि में मौन होकर खाना खाना चाहिए। प्रत्येक मास की पूर्णिमा को इसी प्रकार चन्द्रमा की पूजा करनी चाहिए। इससे व्यक्ति को सभी सुखों की प्राप्ति होती है।

2016 Purnima Vrats Dates

  1. 23 January (Saturday) Paush Purnima Vrat
  2. 22 February (Monday) Magha Purnima Vrat
  3. 23 March (Wednesday) Phalguna Purnima Vrat
  4. 21 April (Thursday) Chaitra Purnima Vrat
  5. 21 May (Saturday) Vaishakha Purnima Vrat
  6. 20 June (Monday) Jyeshtha Purnima Vrat
  7. 19 July (Tuesday) Ashadha Purnima Vrat
  8. 18 August (Thursday) Shravana Purnima Vrat
  9. 16 September (Friday) Bhadrapada Purnima Vrat
  10. 16 October (Sunday) Ashwin Purnima Vrat
  11. 14 November (Monday) Kartik Purnima Vrat
  12. 13 December (Tuesday) Margashirsha Purnima Vrat

Rohini Vrat Vidhi

  • इसके लिए महिलायें प्रातः काल जल्दी उठकर स्नान करती हैं साथ ही पवित्र होकर पूजा करती हैं |
  • इस व्रत में भगवान वासुपूज्य की पूजा की जाती हैं |
  • वासुपूज्य देव की आरधना करके नैवेध्य लगाया जाता हैं |
  • रोहिणी व्रत का पालन रोहिणी नक्षत्र के दिन से शुरू होकर अगले नक्षत्र मार्गशीर्ष तक चलता हैं |
  • रोहिणी व्रत के दिन गरीबों को दान देने का भी महत्व होता हैं |

  1. 20 January (Wednesday) Rohini Vrat
  2. 16 February (Tuesday) Rohini Vrat
  3. 15 March (Tuesday) Rohini Vrat
  4. 11 April (Monday) Rohini Vrat
  5. 08 May (Sunday) Rohini Vrat
  6. 05 June (Sunday) Rohini Vrat
  7. 02 July (Saturday) Rohini Vrat
  8. 29 July (Friday) Rohini Vrat
  9. 26 August (Friday) Rohini Vrat
  10. 22 September (Thursday) Rohini Vrat
  11. 19 October (Wednesday) Rohini Vrat
  12. 16 November (Wednesday) Rohini Vrat
  13. 13 December (Tuesday) Rohini Vrat
Contact Us